0
subhashit,subhashitnai,sanskrit shloka in hindi

Hindi Translation


ये दुनिया अनेको शाश्त्रों और जानकारियों से भरी पड़ी है, लेकिन हमारे पास समय बहुत कम और विध्न बहुत ज्यादा हैं।  अतः जो सारभूत है उसका ही सेवन करना चाहिए जैसे हंस जल और दूध के मिश्रण में से दूध को ग्रहण कर लेता है॥

English Translation


There are many scriptures, lot to know but time is limited and there are many obstacles. So we should practice the essence as a swan extracts only milk from the combination of milk and water.

 Tags:Subhashitani|Subhashit|Sanskrit Shlokas| Hindi Subhashit|


Post a Comment

 
Top